Short Story in Hindi with Moral for Class 8
with Moral for Class 8

with Moral for Class 8

नमस्कार दोस्तों आज में आपको Short Story in Hindi with Moral for Class 5,7,8,9 के बारे में बताने जा रहा हु .  इस कहानी को पढने के बाद आपको अंत में एक सिख भी मिलती है. ये कहानी बच्चो के लिए सबसे अच्छी.ये कहानी आपको अपने बच्चो को जरुर सुनानी चाहिए . अगर आपको ये कहानी पढ़कर अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ भी Share करे

-संकल्प शक्ति

संकल्प शक्ति (Resolution Power) से बढकर दूसरी कोई शक्ति नही होती| स्वामी रामतीर्थ एक कहानी सुनाया करते थे |एक बार चार देविया प्रथ्वी (Earth)पर भ्रमण (Excursion) कर रही थी | अचानक एक संत ने देवीये तेज़ से सम्पन्न  उन देवयो को देखा , तो झुककर प्रणाम किया| चारो देवयो के बीच विवाद खड़ा हो गया कि सन्त ने चारो में से किसे प्रणाम किया है | उन्होंने ने सन्त विनम्रता से पूछा महात्मन आपने किसे प्रणाम क्या है| सन्त ने जबाब दिया ,एक-एक कर आप अपना परिचय दीजिए | तब बताऊगा की मैंने किसे प्रणाम किया है|

तब एक देवी बोली मैं विधाता की देवी हूँ  सबका भाग्य लिखती हूँ  मेरी खीचीं रेखाये मिटाई नहीं जा सकती | सन्त ने कहा मैंने आपको प्रणाम नही किया है|

दूसरी देवी ने कहा मैं बुद्धि की देवी हूँ विवेक की स्वामिनी हूँ | सन्त ने कहा मैं जानता हूँ कि बुद्धि भ्रष्ट होते देर नही लगती है| कई बार मानव धनवान बन जाने के बाद अहंकार के वशीभूत होकर बुद्धि से काम लेना बन्द कर देता है| इसलिये मैं आपको प्रणाम क्यों करता|

तीसरी देवी ने बताया मैं लक्ष्मी हूँ मनुष्य को धन-धान्ये से भरपूर कर देती हूँ | सन्त बोले मैं जानता हूँ कि धन –सम्पति क्षणिक होती है असीमित धन मिलते ही मानव अहंकार में भरकर विवेक खो बैठता है| इसलिये मैंने आपको भी प्रणाम नही किया|

चौथीदेवी ने कहाँ महात्मन मैं की देवी हूँ मुझे धारण करने वाले के लिये कोई भी कार्य असंभव नही होता है |ये सुनकर सन्त उनके चरणों में माथा टेकते हुये कहा निश्चय ही संकल्पशील  व्यक्ति के शब्दकोश  में असंभव शब्द ही नही होता हैं| संकल्पशील व्यक्ति अपने परिश्रम से ज्ञान ,धन प्राप्त कर अपने भाग्य को उज्वल कर सकता हैं इसलिये मैंने आपको ही प्रणाम किया है

ये कहानी मेरी तरह आपको भी ज़रूर inspire करेगी

सफलता का रहस्य | Secret of Success in Hindi

सफलता का रहस्य

एक बार एक नौजवान लड़के ने सुकरात से पूछा कि सफलता का रहस्य क्या है?

सुकरात ने उस लड़के से कहा कि तुम कल मुझे नदी के किनारे मिलो.वो मिले. फिर सुकरात ने नौजवान से उनके साथ नदी की तरफ बढ़ने को कहा.और जब आगे बढ़ते-बढ़ते पानी गले तक पहुँच गया, तभी अचानक सुकरात ने उस लड़के का सर पकड़ के पानी में डुबो दिया. लड़का बाहर निकलने के लिए संघर्ष करने लगा ,

लेकिन सुकरात ताकतवर थे और उसे तब तक डुबोये रखे जब तक की वो नीला नहीं पड़ने लगा. फिर सुकरात ने उसका सर पानी से बाहर निकाल दिया और बाहर निकलते ही जो चीज उस लड़के ने सबसे पहले की वो थी हाँफते-हाँफते तेजी से सांस लेना.

सुकरात ने पूछा, जब तुम वहाँ थे तो तुम सबसे ज्यादा क्या चाहते थे?”

लड़के ने उत्तर दिया, ”सांस लेना”

सुकरात ने कहा, यही सफलता का रहस्य है. जब तुम सफलता को उतनी ही बुरी तरह से चाहोगे जितना की तुम सांस लेना चाहते थे तो वो तुम्हे मिल जाएगी” इसके आलावा और कोई रहस्य नहीं है।

दोस्तों, जब आप सिर्फ और सिर्फ एक चीज चाहते  हैं तो more often than not…वो चीज आपको मिल जाती है. जैसे छोटे बच्चों को देख लीजिये वे न past में जीते हैं न future में, वे हमेशा present में जीते हैं…और जब उन्हें खेलने के लिए कोई खिलौना चाहिए होता है या खाने के लिए कोई टॉफ़ी चाहिए होती है…तो उनका पूरा ध्यान, उनकी पूरी शक्ति बस उसी एक चीज को पाने में लग जाती है and as a result वे उस चीज को पा लेते हैं.

इसलिए सफलता पाने के लिए FOCUS बहुत ज़रूरी है, सफलता को पाने की जो चाहता है उसमे intensity होना बहुत ज़रूरी है..और जब आप वो फोकस और वो इंटेंसिटी पा लेते हैं तो सफलता आपको मिल ही जाती है.

Read More:-

Ummeed Ka Ek Diya |उम्मीद का एक दिया

Aaj Ka Mukhya Suvichar 2020 | प्रेरणादायक सुविचार

Very Funny 100 Jokes in Hindi

यदि आपके पास Hindi में कोई article, inspirational story या जानकारी है जो आप हमारे साथ share करना चाहते हैं तो कृपया उसे अपनी फोटो के साथ E-mail करें. हमारी Id है: [email protected] पसंद आने पर हम उसे आपके नाम और फोटो के साथ यहाँ PUBLISH करेंगे. Thanks!

Previous articleAmitabh Bachchan Quotes in Hindi-अमिताभ बच्चन के सुविचार
Next articleShiv Khera Quotes in Hindi |शिव खेड़ा के अनमोल विचार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here