Who is your partner? :- आपका जीवनसाथी कौन है?- क्या वह जो आपके दिल की बात बस चेहरे से पढ़ लेता हो, आपके हाथ में जब अपना हाथ रखे तो लगे के जैसे हिम्मत सी बंद गई हो, जिसके कंधे पर अगर रोने का मन करें

तो उससे ज्यादा तसल्ली देने वाली कोई बात ना हो, या फिर वह जिसके साथ घंटों भी कुछ पल के बराबर लगे और दिन और रात तक का ख्याल ना रहे।

ऐसा कई लोगों ने महसूस किया और फिर शादी करने में देरी नहीं की। उनको तो अपना जीवन साथी मिल गया।अगर आप भी कुछ खूबियों की एक तस्वीर बनाकर एक व्यक्ति को उस में फिट कर लेते हैं; या मानते हैं कि मेरा ‘सोलमेट’ कहीं ना कहीं ज़रूर होगा, तो हम इस बात पर अपनी मुहर लगा लेते हैं,

कि दुनिया में एक ऐसा व्यक्ति ज़रूर है जिसके साथ बस मेरा ही साथ लिखा है और वह उस फ्रेम में फिट होगा!

“मेरी मांग में चांद तारे सजाता, जब मैं रूठ जाती तो वह मुझे मनाता!” या फिर “मेरे सपनों की रानी कब आएगी तू”, ऐसे कई गीत हम सुनते रहते हैं। पर्दे पर के किरदार भी हमारे जहन में एक जगह बना चुके हैं, फिर चाहे वह राज की सिमरन

, रोमियो की जूलियट या फिर टाइटैनिक के जैक और रोज हो।क्या सच में ‘सोलमेट’ या ‘मन का मीत’ जैसा कुछ वास्तव में होता है?

“मुझसे मोहब्बत का इज़हार करता, काश कोई लड़का मुझे प्यार करता!” “मेरी मांग में चांद तारे सजाता, जब मैं रूठ जाती तो वह मुझे मनाता!” या फिर “मेरे सपनों की रानी कब आएगी तू”, ऐसे कई गीत हम सुनते रहते हैं। पर्दे पर के किरदार भी हमारे जहन में एक जगह बना चुके हैं,

फिर चाहे वह राज की सिमरन, रोमियो की जूलियट या फिर टाइटैनिक के जैक और रोज हो।क्या सच में ‘सोलमेट’ या ‘मन का मीत’ जैसा कुछ वास्तव में होता है?

Who is your partner?-आपका जीवनसाथी कौन है?

एक अच्छा पार्टनर चुनने के क्या हैं तरीके:-

1.आप जैसे ही हों जिसके शौक


ऐसे पार्टनर का चुनाव करना बेहतर होता है, जिसके ज्यादातर शौक आप जैसे ही हों। यह ध्यान रखें कि उनका हर शौक आप जैसा नहीं हो सकता, लेकिन ज्यादातर मैच करने पर संबंध अच्छे रह सकते हैं। रिलेशनशिप एक्सपर्ट सीमा हिंगोरानी कहती हैं, ‘जब आप किसी के साथ पूरी जिंदगी बिताने का फैसला लेने वाले हों तो यह ध्यान रखें कि उनके और आपके इंटरेस्ट कुछ हद तक एक जैसे हों। इससे आप बहुत से काम साथ में और पूरे इंजॉय के साथ करेंगे।’

2.पार्टनर के इंटलेक्ट का भी रखें ध्यान


यदि आपका पार्टनर आपके मुकाबले करियर में बहुत पीछे हो या फिर ओवर-अचीवर हो तो यह शादी में एक संकट की तरह हो सकता है।

3.स्टैंडर्ड में न हो बड़ा अंतर


शादी एक दिन के लिए नहीं होती। इसलिए यह जरूरी है कि आप पार्टनर और उनकी फैमिली के स्टैंडर्ड के मुकाबले खुद को भी परख लें। एक साथ जिंदगी गुजारने के लिए यह भी जरूरी है कि दोनों के परिवेश में बहुत अंतर न हो और परिवार भी कमोबेश एक जैसे स्टैंडर्ड के हों।

4.जरूरी है एक-दूसरे का सम्मान


आप ऐसे किसी पार्टनर के साथ जिंदगी नहीं गुजार सकते, जिसके मन में आपके प्रति कोई सम्मान ही न हो। यह भी जरूरी है कि पार्टनर आपकी प्रायॉरिटी और अन्य चीजों का भी सम्मान करे। इसलिए ऐसे पार्टनर को चुनें, जो पूरी जिंदगी आपका सम्मान करे।

5.एक-दूसरे पर भरोसा


आज के दौर में जो सबसे जरूरी चीज है, वह है एक-दूसरे पर भरोसा करना। यदि आप एक दूसरे पर भरोसा नहीं करते हैं तो फिर आप सुखी वैवाहिक जिंदगी नहीं जी सकते।

6.साथ में बिताएं वक्त


एक जैसे शौक और रुचि होने के साथ ही यह भी जरूरी है कि पार्टनर के साथ आप ज्यादा से ज्यादा वक्त बिताएं। वैवाहिक जिंदगी में यदि आप साथ में समय नहीं गुजारते हैं तो फिर खुशियां कम हो सकती हैं।

जिससे आसानी से हो सके बात


आपको एक ऐसे पार्टनर का चुनाव करना चाहिए, जिससे आप आसानी से कनेक्ट कर सकें। इससे आप किसी भी चीज का इंजॉय कर सकेंगे और कभी भी रिलेशनशिप में बोर नहीं होंगे।

Read More:-

Previous articleAaj Ka Vichar-आज का विचार
Next articleDilo Ki Mithas-2 दिलो की मिठास